पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सींग ने दिया इस्तीफा : पंजाब में सियासी भूचाल

Punjab CM Captain Amrinder Singh Resign 

Punjab CM Captain Amrinder Singh Resign

18th Sept.
Punjab.

आज पंजाब के सीएम ने इस्तीफा दे दिया है और पंजाब में सियासी भूचाल मच गया है।  सूत्रों की मने तो ये सब कांग्रेस के अंदरूनी जगदे का परिणाम है।  

कैप्टन अमरिंदर सींग ने प्रेस वार्ता करते समय बताया की उन्होंने आज  सुबह ही इस्तीफा देने का खुद तय कर लिया था और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी से बात कर ली थी। 

पंजाब की राजनिति कई दिनों से गर्म चल रही थी और संकेत भी मिल रहे थे की लोई राजनितिक भूचाल आ सकता है।  आज करीब साढ़े चार बजे के आस पास सीएम राज्यपाल के पास पहुंचे और उन्होंने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया। उन्होंने बताया की उन पर और उनकी कार्य क्षमता पर आलाकमान और विधायकों को शक था की  वो सही तरह से पंजाब को संभल नहीं पा रहे है।  आगे बात करते हुए सीएम ने कहा की बार बार विधायकों की बैठक बुलाई जाती थी और उसकी कार्यशैली पर सवाल उठने से वो खुदको अपमानित महसूस करते थे।  उसको बताये बिना ही विधायकों की बैठक बुलाना एक अपमान जनक स्थिति है। 

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा की मेरे पास भविष्य की  राजनीती का विकल्प पूरी तरह से खुला हुवा है। उन्होंने हाका ही वे अपने समर्थको के साथ बातचीत करेंगे और आगे की रणनीति तैयार करेंगे और मिडिया को साजा करेंगे।  उन्हों ने ये साफ़ कहा की सिर्फ मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया है और वो अभी भी कोन्ग्रेस्स के साथ जुड़े है।   


" पिछले कुछ महीनों मे तीसरी बार ये हो रहा है कि विधायकों को दिल्ली में बुलाया गया। मैं समझता हूं कि अगर मेरे ऊपर कोई संदेह है, मैं सरकार चला नहीं सका, जिस तरीके से बात हुई है मैं अपमानित महसूस कर रहा हूं।" : - कैप्टन अमरिंदर सिंह


कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बताया की उन्हों ने सुबह में ही तय कर लिया और पार्टी अध्यक्ष को भी सूचित कर दिया था की वे आज शाम तक माननीय राज्यपाल जी को अपना इस्तीफा सौंप देंगे।  उन्हों ने बताया की पार्टी में किसी को भी उसके ऊपर भरोसा नहीं है , अब पार्टी जिसे चाहे उसे सीएम पद दे सकती है।  


" मैंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया है। फ्यूचर पॉलिटिक्स हमेशा एक विकल्प होती है और जब मुझे मौका मिलेगा मैं उसका इस्तेमाल करूंगा।" :- कैप्टन अमरिंदर सिंह

पंजाब के इस पुरे भूचाल के लिए सिद्धू को जिम्मेदार माना जा रहा है।  गोपाल शर्मा ने तो यहाँ तक कहे दिया की सिद्धू भाजपा में यही कर रहे थे तो उन्हें पार्टी से निकला गया और अब वो कांग्रेस में भी यही कर रहे है।  



Post a Comment

Previous Post Next Post